Featured Hindi Legends Poem Poetry Top Urdu Youth Pulse

एक बम की अभिलाषा: फीट भगत सिंह

यह पंडित जी का फैसला था की असेंबली में बम फेंकने भगत नहीं जायेगा. और झुंझलाये हुए सुखदेव को समझ नहीं आ रहा था की दल का सबसे बेहतर प्रवक्ता कैसे और क्यों नहीं जायेगा. उसने भगत पर मोहब्बत का इलज़ाम लगाया पर भगत ने मोहब्बत के इलज़ाम को झूठा ठहराया. पर भगत सुखदेव की झुंझलाहट को समझ रहा था और कहीं जनता था की सुखदेव जायज़ बात कर रहा है. इसलिए पंडित जी के

Read more
Featured Hindi Literature Love Poem Poetry Shayri Top Urdu

कोई हवा आई

समन्दरों के उधर से कोई हवा आई I दिलों के बंद दरीचे खुले हवा आई I नए मुहाज़ पे निकले हैं फिर से सौदागर, नए सफ़र की कशिश फिर नयी सुबह लाई I कोई तो शख्स है जिसने चमन से खार चुने, कोई वजह है गुलिस्तां में ये अदा आई I वोही है मर्ज़ इलाजे मरीज़ भी वो ही, ये कैसे मोड़ पे मुझको मेरी वफ़ा लाई I

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

किसी की आमद आमद है

खिले हैं फूल ये दिल के किसी की आमद आमद है I नज़र की शम्मा रौशन है किसी की आमद आमद है I   नज़ारे आज खुश रंगों में डूबे हैं ज़रा देखो, लबों पे मुस्कराहट है किसी की आमद आमद है I   बिछाए दिल को बैठे हैं तसव्वुर है कोई आया, जवां चाहत जवां दिल है किसी की आमद आमद है I   निगाहें बारहा उठ जाती हैं हर उस तरफ यूँ ही,

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

ढूंढता हूँ मैं

सोयी हुई यादों में तुम्हें ढूंढता हु मैं I दरिया के बीच जा के ज़मीं ढूंढता हूँ मैं I   मालूम नहीं हो गयी मुझसे कहाँ ख़ता, खुद अपने लिए आज सज़ा ढूंढता हूँ मैं I   ऐ चाँद आसमाँ के तू मुझको दे रौशनी, गुम हो गया है चाँद मेरा ढूंढता हूँ मैं I   यूँ खो गया राह में मुझसे मेरा नसीब, मिलते नहीं क़दमों के निशां ढूंढता हूँ मैं I

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

वो आयें

वो आयें मेरे दर पे शरमाते हुए आयें I इन सर्द हवाओं को गरमाते हुए आयें I   गुलशन की महक मुझको महसूस नहीं होती I एक गुल सा मेरा अरमा महकाते आयें, वो आयें मेरे दर पे शरमाते हुए आयें   सदियों की ज़िन्दगी में इक पल भी नहीं अपना I कुछ पल ही सही लेकिन मेरे ही लिए आयें, वो आयें मेरे दर पे शरमाते हुए आयें   इस बद नसीब दिल को

Read more
Featured Hindi Poem Poetry Shayri Top Urdu

हाले दिल मेरा

कोई मेरे दिल से पूछे ज़रा हाले दिल मेरा I आखों से ले बयाने जिगर थामे दिल मेरा I सपनों की डोरियों से बुना आशियाँ मेरा I फूलों की खुशबुओं से सजा गुलसितां मेरा I तारों की रौशनी से धुला पासबां मेरा I मेरे करीब ही है हंसी आसमाँ मेरा I मिला राहबर कोई तो बना हमनवां मेरा I जो समझे मोहब्बत को वोही हमज़बां मेरा I

Read more
Featured Hindi Life Literature Poem Poetry Shayri Top Urdu

कहाँ जाइएगा आप

खुद से बिछड़ के दूर कहाँ जाइएगा आप, जलती है सुबहो शाम कहाँ जाइएगा आप I   शहरों से मोहोब्बत के निशां मिट रहें हैं रोज़, मंजिल ख़बर नहीं है कहाँ जाइएगा आप I   कांटे बिछे राह में सूरज चढ़ा हुआ, बिन साया नंगे पाँव कहाँ जाइएगा आप I   दुनिया ये नफरतों के शिकंजे में फंसी है, अपनी गली से दूर कहाँ जाइएगा आप I   इक आग सी लगी है मेरे दिल

Read more
Featured Hindi India Poetry Top

जिस देश में खिलती है सुबहा

जिस देश में खिलती है सुबहा, जिस देश में रंगीं शाम ढले, जिस देश के बागों में कलियाँ , हंसतीं शबनम की बूँद तले, उस देश के हम वाशिंदे हैं I जिस देश की नदियाँ कहती हैं, इंसान की हिम्मत का किस्सा I जिस देश के मैदानों ने सुनी, इंसान की ताकत की गीता I हम रिंद हैं उस मैखाने के, जिसकी मदिरा ये जग पीता, देकर के अमन का पैमाना, इसके साकी ने जग

Read more
Featured Hindi Life Literature Optimism Poem Poetry Top

यदि तू विस्तार चाहता है

खुशबू बन उड़ जा यदि तू विस्तार चाहता है I मानव को कर प्यार यदि तू प्यार चाहता है I मोती बन मत बैठ कोष्ठ में, सीपी के जैविक प्रकोष्ठ में, सागर में मिल जा, यदि तू विस्तार चाहता है मानव को कर …… I क्या कहता है अंतर्मन में, शंखनाद बन विचार गगन में, चेतन को बिखरा, यदि तू विस्तार चाहता है मानव को कर …… I मनुज योनी का धर्म समझ ले, जीवन

Read more
Featured Hindi Literature Optimism Poem Poetry Shayri Top Urdu

चलो इस बार

चलो इस बार कुछ ऐसा भी कर लें I सेहर के वास्ते सूरज को चुन लें I   बोहोत सोये हैं हम गफलत की नींदें, खुली आँखों से भी कुछ खाब बुन लें I   हमारे हाथ में ताकत है सारी, चलो तदबीर को तकदीर कर लें I   हमीं हैं मुल्को मिल्लत की उम्मीदें, एक कोशिश करें सूरत बदल लें I

Read more