Corruption Culture Democracy Globalisation God Governance Government Happiness Human Resource Opinion Optimism Philosophy Productivity Story

बलूचिस्तान सिर्फ झगड़े का इलाका नहीं है!

ईरान में चाबहार बंदरगाह और पाकिस्तान में ग्वादर बंदरगाह क्रमशः नई दिल्ली समझौते (2003) और चीन-पाकिस्तान आर्थिक कॉरीडोर (सीपीईसी) के तहत बातचीत के महत्वपूर्ण बिंदु हैं। भौगोलिक और संसाधन मूल्य के अलावा, इन दोनों क्षेत्रों के बीच स्थित बलूचिस्तान  कुछ अनोखी सांस्कृतिक संभावनाएं पेश करता है जिससे भारत अपने सासंकृतिक और राजनैतिक शक्ति को और सुदृढ़ कर सकता है; ग्वादर पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में स्थित है। ‘बलोच’ लोग, जो पाकिस्तान और ईरान के 3.6% और

Read more
2017 India Opinion Optimism Philosophy

अम्बेडकर और उनके जीवन से मिली सीख!

भीमराव अम्बेडकर, ‘बाबा साहब’ और ‘भारतीय संविधान के पिता’ के रूप में जाने जाते हैं। महर जाति में पैदा होने के कारण, वह सामाजिक और आर्थिक भेदभाव के शिकार थे। लेकिन इसके बावजूद, उन्होंने एक शैक्षिक जीवन का पीछा किया और मुंबई विश्वविद्यालय और कोलंबिया विश्वविद्यालय (यूएसए) से स्नातक हासिल कर भारत के पहले प्रसिद्ध और विद्वान् दलित बने। उनके जीवन और लेख मे दी गई सीख आज भी उनकी मृत्यु के 6 दशक बाद

Read more
भारतीय डाक सेवा

डाकिया डाक लाया !

डाकिया डाक लाया! डाकिया डाक लाया! राजेश खन्ना की मशहूर फिल्म ‘पलकों की छाओं मे’ से यह गाना आज भी मन को उसी तरह लुभाता है जैसे की यह चालीस साल पहले करता था। ‘बॉर्डर’ फिल्म मे मशहूर गाना ‘संदेसे आते हैं’ मे भी डाकिये को एक एहम भूमिका दी गई थी। मोबाइल फ़ोन, इ-मेल और इंटरनेट को दुनिया मे आये हुए केवल 30 से 40 साल हुए हैं। लेकिन डाक का इतिहास 100 साल

Read more