2017 Culture Education Globalisation Health Legends Life Medicine Optimism Productivity Story Technology World

डॉ. हर गोविन्द खोराना का अध्बुध जीवन!

http://westwicklowfestival.com/wp-cron.php?doing_wp_cron=1528599827.8951559066772460937500 डॉ. हरगोबिंद खोराना जैव प्रौद्योगिकी और आनुवांशिक इंजीनियरिंग की दुनिया में मशहूर नाम हैं। उनके काम से आज हम यह समझ पाएं हैं की जीव-जंतु को आकार और अस्तित्व देने वाले डीएनए काम कैसे करते हैं। कंप्यूटर कोड की तरह डीएनए भी करोड़ों कोड से बना हुआ है। डॉ. हरगोबिंद खोराना का जन्म रायपुर गाँव, पंजाब, ब्रिटिश इंडिया (अब पाकिस्तान) मे 9 जनवरी 1922 को हुआ था। बचपन से ही वे विज्ञान की दुनिया से

Read more
2017 Culture Education Environment Featured Happiness Human Resource India Indian Culture Life Opinion Optimism Philosophy Productivity World

Understanding Hinduism Vs Hindutva

In recent times, the idea of Hindutva being tagged as ‘Hinduistic’ in behavior has surfaced. However, both are completely different concepts and cannot be put on the same pedestal. It’s crucial to understand the difference between the two. Hinduism is one of the oldest religions in the world. As noted leader and thinker, Shashi Tharoor says, “Hinduism is ‘Anant’. It has neither a beginning nor an end.” Swami Vivekanand’s speech at the ‘World Parliament of Religions’

Read more
2017 Business Culture Digital Media Education Environment Globalisation Human Resource Opinion Productivity Recruitment Story Urbanisation Work World

बिटकॉइन आखिर है क्या ?

plavix 75 mg zastosowanie आये दिन कई कंपनियां ‘बिटकॉइन’ के बारे मे बात कर रही हैं। आखिर यह नई मुद्रा प्रणाली है क्या? क्या यह सुरक्षित है? क्या इससे घोटाले मे कमी आएगी? ऐसे कुछ प्रश्न मेरे दिमाग मे आये थे। चूँकि आजकल स्मार्टफ़ोन का ज़माना है, ‘बिटकॉइन’ के लेन-देन के लिए कंपनियों ने कई एप्लीकेशन निकाले हैं। सीधी भाषा मे यदि बात की जाए तो ‘बिटकॉइन’ आभासी मुद्रा है। यानी आप कंप्यूटर के माध्यम से बिटकॉइन यानी ‘वर्चुअल

Read more
2017 Business Corruption Culture Delhi/NCR Democracy Education Entrepreneurship Environment Globalisation Governance Government Human Resource India Opinion Optimism Recruitment Urbanisation World

गरीबी हटायेंगे लेकिन कैसे?

आज ‘अंतर्राष्ट्रीय गरीबी हटाओ दिवस’ है। संयुक्त राष्ट्र ने आज से ठीक पच्चीस साल पहले आज के दिन को इस नेक कार्य के लिए चुना था। पिछली सदी शायद मानवता के लिए सबसे भीषण और दर्दनाक समय रहा है। दो विश्व युद्ध, परमाणु हमलों, ‘कोल्ड वौर’ जैसे संकटमय क्षणों के अलावा कई गुलाम देशों को आज़ादी मिली। अफ्रीका, एशिया और दक्षिण अम्रीका के कई देशों ने स्वतंत्रता की सांस ली। लेकिन इसी स्वतंत्रता के साथ

Read more
2017 Cooking Culture Education Environment Food Government India Indian Culture Lifestyle Opinion Optimism Productivity Social Work Technology Television Workforce World

खाना वाकई मे खज़ाना है!

बचपन मे जब मैं खाना नष्ट करता था, तो मेरे परिवार वाले मुझे डांटते और कहते कि,“अन्न नष्ट करने का मतलब है किसी दुसरे को खाने से वांछित करना”। चूँकि मैं छोटा था, मुझे इसका मतलब समझ नहीं आया। जब मैं थोड़ा बड़ा हुआ और दुनिया दारी की मुझे समझ होने लगी, तब मुझे इस कथन का तात्पर्य पूर्ण रूप से समझ मे आया। अब मेरी कोशिश हमेशा से यही रहती है की यदि मैंने

Read more
2017 Crime Culture Democracy Education Environment Featured Globalisation Human Resource Opinion Optimism Productivity World

Disasters don’t come knocking!

Disasters don’t wait to happen. They happen when one least expects them. Today is International Day for Disaster Reduction. In the past couple of months, the world has seen a series of catastrophes. From earthquakes and hurricanes ravaging the North American and Mexican coasts to coastal rains lashing Eastern India, Bangladesh and Nepal, loss of human and animal life has been tremendous and unforgiving. Due to increasing global warming and melting of polar ice caps,

Read more
2017 Culture Education Food Happiness Health Life Medicine Opinion Optimism Work

आर्थ्राइटिस लाइलाज नहीं है!

आज ‘विश्व आर्थ्राइटिस दिवस’ है। आर्थ्राइटिस आम भाषा मे ‘जोड़ों का दर्द’ होता है। यह ग्रीक शब्द से लिया गया है। ग्रीक मे आथ्रो का मतलब है ‘जोड़ा’ और आईटिस का मतलब है ‘सूजन’। इंसान के शरीर मे जोड़ों की एहम भूमिका होती है। विभिन्न तरह के चलन और काम-काज इंसान जोड़ों की मदद से ही कर पाता है। एक तरह से हम यह भी कह सकते हैं की जोड़े हमे कोई भी काम करने

Read more
2017 Cities Culture Education Featured Globalisation Governance History India Optimism Radicalization Science Technology World

परमाणु बम से आज़ादी!

हाल ही मे नोबेल प्राइज़ समिति ने अन्तराष्ट्रीय परमाणु हथियार समाप्ति संगठन (ICAN) को शांति पुरस्कार से नवाज़ा। समिति ने कहा की, “ग्लोबल वार्मिंग, प्रदुषण और आतंकवाद से भी ज्यादा भयानक है परमाणु हथ्यार।इसके उत्पादन को रोकना और परमाणु शक्ति को ऊर्जा के लिए उपयोग करना आवश्यक है।” जब अमेरिकी सेना ने अगस्त 1945 को जापान के हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु बम गिराए थे, तो इसका प्रभाव पूरी दुनिया ने देखा था। शायद इंसान

Read more
coe_hp_new
Book Culture Democracy Education Human Resource India Literature Philosophy Productivity

Can India once again become the education hub of the world?

In ancient times, India boasted of having one of, if not the best university of the world Nalanda. In 1200 CE, along with Takshila and Vikramshila, India occupied the pinnacle of learning in the ancient world. Students from as far as Persia and Turkey in the Middle East and Japan and Korea in Central Asia were its students. It housed close to 10,000 students and about 2,000 teachers. Its staff included the likes of Aryabhatta,

Read more
BHU
Corruption Culture Democracy Education Feminism Globalisation Governance Opinion Politics Women

कट्टरपंथी सोच भारत के लिए खतरनाक है

हाल ही मे बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) मे छात्रायों के शान्ति धरने पर पुलिस की एक ही प्रतिक्रिया थी- लाठीचार्ज। जब छात्राएं अपने एक सहेली के ऊपर यौन उत्पीड़ण, बिगड़ती सुरक्षा प्रणाली, शरारती तत्व, गुंडागर्दी और लिंग भेदभाव से जुड़े कई एहम मुद्दों पर विश्वविद्यालय के कुलपति से बातचीत करने की अपेक्षा की तो उन पर लाठियों की बौछार हुई। दुःख की बात है की शिक्षा और आध्यात्मिकता के इस मंदिर मे इस तरह की

Read more