Feminism Fiction Hindi Life Literature Short Story Story Women

शाहबलूत का पत्ता!!! – भाग – २

चिठ्ठियाँ जिंदा लाश होती हैं! धूप का तीखापन, दोपहर की निसंगता और उजाड़ सा अपना अस्तित्व खोता ये छोटा स्टेशन| उसने दायें-बायें सर घुमा के देखा, एक चमकदार चौंध हर ओर पसरा पड़ा था|दूर-दूर तक सिवाय चिमनियों के कुछ और नज़र नहीं आता था| या तो उस चौहद्दी के बाहर हर चीज़ बहुत छोटी है या अब ये चिमनियाँ बहुत ऊंची उठ गयीं हैं| पिछली बार जब आई थी यहाँ तो सात साल पहले आई

Read more
Feminism Fiction Hindi Life Literature Short Story Story Women

शाहबलूत का पत्ता!!! – भाग – १

प्रेम, युद्ध से पलायित देवताओं का स्वांग भर है! चौमासों की रात, रात की उमस और आकाश में बादल| आकाश का हर हिस्सा आज बादलों से पटा पड़ा था | बूँदें लबालब भरी हुई थीं, इतनी कि कोई एक बूँद भी हिले तो बीच का तारतम्य ही टूट जाये | “आज पानी न पड़े” उसने सोचा | उधर छत पर कोई किसी को कहानी सुना रहा था जिसके टूटे-टूटे शब्द उसके कानों में पड़ रहे

Read more
Hindi Poetry

क्यों करे मच्छर से शादी ……………. Awesome Must Read

कल रात को हम अपने खाट पे मस्त हो के सो रहे थे मुक्त हो के दुनिया के बन्धनों से मीठे सपने पीरो रहे थे सपने में थी साथ हमारे एक सुन्दर सी नारी तभी किसी ने हमे गाल पे एक जोरदार डंक मारी उस डंक के प्रभाव से हमारी  नींद ही नहीं सपना भी टूट गया मीठे सपने के साथ उस कोमल नारी का साथ भी छुट गया        हम तिलमिलाए से उठे और कहा हे काले छुद्र से प्राणी                                               क्यों हमारे कोमल से  गाल पे  डंक मारी                                               तब हूम-हूम के साथ एक आवाज आई                                               बत्तमीज़ हम है मच्छरों की राजकुमारी                                               तुम्हारा खून चखने में बड़ा मीठा है                                               इसलिए हम बनना चाहते है मिसेज़ तुम्हारी ये सुनते ही मैं पूरी तरह हिल गया पत्नियाँ पतियों का खून पीती हैं ये सुना तो था पर ये साक्क्षात प्रेक्टिकल  हमे ही क्यों मिल गया तब जा के मच्छरों की राजकुमारी ने कहा हमसे विवाह करने के कुछ वेल्यु एडेड सर्विसेस हैं साथ ही देश सेवा का दुर्लभ मौका है                                                हमने कहा बात तो विचित्र है फिर भी कहो                                                तो उस मादा मच्छर ने फ़रमाया                              

Read more
Entertainment Hindi Love Shayri Top Urdu

तेरे आने के बाद

जवाजे हिज्र को जाना तेरे आने के बाद I इतना रंगी हुआ है अब्र ज़माने के बाद I वस्ल से पहले बेकरारियां बेमानी न थीं, दिल ने जाना है इसे जाँ तेरे आने के बाद I बिजलियाँ दौड़ उठीं हैं मेरी रगो-पै में, बरसते आँख से बादल तेरे आने के बाद I देखके तुझको तेरे सारे सितम भूल गया, ग़मों का काम ही क्या है तेरे आने के बाद I

Read more
Featured Hindi Literature Love Poem Poetry Shayri Top Urdu

कोई हवा आई

समन्दरों के उधर से कोई हवा आई I दिलों के बंद दरीचे खुले हवा आई I नए मुहाज़ पे निकले हैं फिर से सौदागर, नए सफ़र की कशिश फिर नयी सुबह लाई I कोई तो शख्स है जिसने चमन से खार चुने, कोई वजह है गुलिस्तां में ये अदा आई I वोही है मर्ज़ इलाजे मरीज़ भी वो ही, ये कैसे मोड़ पे मुझको मेरी वफ़ा लाई I

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

संग दिल

संग दिल पर भी पड़ जायेंगे कुछ निशां I अश्क मेरे जो गिरते रहेंगे यहाँ I   वो पिघल जायेंगे और ज़ुरूर आयेंगे, हम जो जलते रहेंगे अगन में यहाँ I   वो गए जबसे ख्वाबों में हम खो गए, बंद आँखों से अब जायेंगे वो कहाँ I   वो मयस्सर नहीं उनका ग़म ही सही, इस बहाने से काटेंगे राहे जहाँ I   संग दिल पे ……

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

किसी की आमद आमद है

खिले हैं फूल ये दिल के किसी की आमद आमद है I नज़र की शम्मा रौशन है किसी की आमद आमद है I   नज़ारे आज खुश रंगों में डूबे हैं ज़रा देखो, लबों पे मुस्कराहट है किसी की आमद आमद है I   बिछाए दिल को बैठे हैं तसव्वुर है कोई आया, जवां चाहत जवां दिल है किसी की आमद आमद है I   निगाहें बारहा उठ जाती हैं हर उस तरफ यूँ ही,

Read more
lovestory
Hindi Love Poem Poetry

प्रेम कहानी

लड़की:–   तू मेरे दिल का राजा मैं तेरे दिल की रानी आओ हम तुम दोनों मिलकर लिखें प्रेम कहानी तू मेरे दिल का राजा मैं तेरे दिल की रानी लड़का:–   मैं तेरे दिल का राजा तू मेरे दिल की रानी आओ हम तुम दोनों मिलकर लिखें प्रेम कहानी लड़की:–   ऋतु ये सुहानी आई सावन के बदरा लाई जब ये बादल छाए गगन में रिम-झिम बरसा पानी तू मेरे दिल का राजा मैं तेरे दिल की

Read more
Featured Hindi Poem Poetry Shayri Top Urdu

जाने कैसा मेरा आइना हो गया

जाने कैसा मेरा आइना हो गया I मैं यहीं था अभी अब कहाँ खो गया I जिनसे देखा था मैंने ये रंगीं जहाँ, अब उन आखों का पानी कहाँ हो गया I वो शरीफों की इज्ज़त कहाँ खो गयी, ये शराफत के मानी को क्या हो गया I वो जो दुनिया हंसी थी कहाँ हो गयी, ये जो मैं नौजवां था कहाँ हो गया I देखता हूँ जिसे बोलता है मगर, गुफ्तगू का करीना कहाँ

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

ढूंढता हूँ मैं

सोयी हुई यादों में तुम्हें ढूंढता हु मैं I दरिया के बीच जा के ज़मीं ढूंढता हूँ मैं I   मालूम नहीं हो गयी मुझसे कहाँ ख़ता, खुद अपने लिए आज सज़ा ढूंढता हूँ मैं I   ऐ चाँद आसमाँ के तू मुझको दे रौशनी, गुम हो गया है चाँद मेरा ढूंढता हूँ मैं I   यूँ खो गया राह में मुझसे मेरा नसीब, मिलते नहीं क़दमों के निशां ढूंढता हूँ मैं I

Read more