Featured Hindi Literature Love Poem Poetry Shayri Top Urdu

कोई हवा आई

समन्दरों के उधर से कोई हवा आई I दिलों के बंद दरीचे खुले हवा आई I नए मुहाज़ पे निकले हैं फिर से सौदागर, नए सफ़र की कशिश फिर नयी सुबह लाई I कोई तो शख्स है जिसने चमन से खार चुने, कोई वजह है गुलिस्तां में ये अदा आई I वोही है मर्ज़ इलाजे मरीज़ भी वो ही, ये कैसे मोड़ पे मुझको मेरी वफ़ा लाई I

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

संग दिल

संग दिल पर भी पड़ जायेंगे कुछ निशां I अश्क मेरे जो गिरते रहेंगे यहाँ I   वो पिघल जायेंगे और ज़ुरूर आयेंगे, हम जो जलते रहेंगे अगन में यहाँ I   वो गए जबसे ख्वाबों में हम खो गए, बंद आँखों से अब जायेंगे वो कहाँ I   वो मयस्सर नहीं उनका ग़म ही सही, इस बहाने से काटेंगे राहे जहाँ I   संग दिल पे ……

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

किसी की आमद आमद है

खिले हैं फूल ये दिल के किसी की आमद आमद है I नज़र की शम्मा रौशन है किसी की आमद आमद है I   नज़ारे आज खुश रंगों में डूबे हैं ज़रा देखो, लबों पे मुस्कराहट है किसी की आमद आमद है I   बिछाए दिल को बैठे हैं तसव्वुर है कोई आया, जवां चाहत जवां दिल है किसी की आमद आमद है I   निगाहें बारहा उठ जाती हैं हर उस तरफ यूँ ही,

Read more
lovestory
Hindi Love Poem Poetry

प्रेम कहानी

लड़की:–   तू मेरे दिल का राजा मैं तेरे दिल की रानी आओ हम तुम दोनों मिलकर लिखें प्रेम कहानी तू मेरे दिल का राजा मैं तेरे दिल की रानी लड़का:–   मैं तेरे दिल का राजा तू मेरे दिल की रानी आओ हम तुम दोनों मिलकर लिखें प्रेम कहानी लड़की:–   ऋतु ये सुहानी आई सावन के बदरा लाई जब ये बादल छाए गगन में रिम-झिम बरसा पानी तू मेरे दिल का राजा मैं तेरे दिल की

Read more
Featured Hindi Poem Poetry Shayri Top Urdu

जाने कैसा मेरा आइना हो गया

जाने कैसा मेरा आइना हो गया I मैं यहीं था अभी अब कहाँ खो गया I जिनसे देखा था मैंने ये रंगीं जहाँ, अब उन आखों का पानी कहाँ हो गया I वो शरीफों की इज्ज़त कहाँ खो गयी, ये शराफत के मानी को क्या हो गया I वो जो दुनिया हंसी थी कहाँ हो गयी, ये जो मैं नौजवां था कहाँ हो गया I देखता हूँ जिसे बोलता है मगर, गुफ्तगू का करीना कहाँ

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

ढूंढता हूँ मैं

सोयी हुई यादों में तुम्हें ढूंढता हु मैं I दरिया के बीच जा के ज़मीं ढूंढता हूँ मैं I   मालूम नहीं हो गयी मुझसे कहाँ ख़ता, खुद अपने लिए आज सज़ा ढूंढता हूँ मैं I   ऐ चाँद आसमाँ के तू मुझको दे रौशनी, गुम हो गया है चाँद मेरा ढूंढता हूँ मैं I   यूँ खो गया राह में मुझसे मेरा नसीब, मिलते नहीं क़दमों के निशां ढूंढता हूँ मैं I

Read more
Featured Hindi Love Poem Poetry Romance Shayri Top Urdu

वो आयें

वो आयें मेरे दर पे शरमाते हुए आयें I इन सर्द हवाओं को गरमाते हुए आयें I   गुलशन की महक मुझको महसूस नहीं होती I एक गुल सा मेरा अरमा महकाते आयें, वो आयें मेरे दर पे शरमाते हुए आयें   सदियों की ज़िन्दगी में इक पल भी नहीं अपना I कुछ पल ही सही लेकिन मेरे ही लिए आयें, वो आयें मेरे दर पे शरमाते हुए आयें   इस बद नसीब दिल को

Read more
Featured Hindi Poem Poetry Shayri Top Urdu

हाले दिल मेरा

कोई मेरे दिल से पूछे ज़रा हाले दिल मेरा I आखों से ले बयाने जिगर थामे दिल मेरा I सपनों की डोरियों से बुना आशियाँ मेरा I फूलों की खुशबुओं से सजा गुलसितां मेरा I तारों की रौशनी से धुला पासबां मेरा I मेरे करीब ही है हंसी आसमाँ मेरा I मिला राहबर कोई तो बना हमनवां मेरा I जो समझे मोहब्बत को वोही हमज़बां मेरा I

Read more
Featured Hindi Life Literature Poem Poetry Shayri Top Urdu

कहाँ जाइएगा आप

खुद से बिछड़ के दूर कहाँ जाइएगा आप, जलती है सुबहो शाम कहाँ जाइएगा आप I   शहरों से मोहोब्बत के निशां मिट रहें हैं रोज़, मंजिल ख़बर नहीं है कहाँ जाइएगा आप I   कांटे बिछे राह में सूरज चढ़ा हुआ, बिन साया नंगे पाँव कहाँ जाइएगा आप I   दुनिया ये नफरतों के शिकंजे में फंसी है, अपनी गली से दूर कहाँ जाइएगा आप I   इक आग सी लगी है मेरे दिल

Read more
Featured Hindi Life Literature Poem Poetry Shayri Top Urdu

केहर के शोले

कैसे बढ़ते हैं हवाओं में केहर के शोले I किसने पाले हैं छिपाए हैं केहर के शोले I   गर्म बाहें वो पनाहें वो दोस्ती का चलन, बुझ गए सारे अलम रह गए फकत शोले I   हमने माना की शुभा है तुम्हे उनपे लेकिन, नफरतें कब से, जमा कब से दिलों में शोले I   उनसे कह दो जो भुला बैठे हैं इमां अपना, उनके दीवान जला देंगे उन्ही के शोले I

Read more