2017 Culture Democracy Environment Featured Feminism Globalisation Government Happiness Human Resource India Life Opinion Optimism Productivity Urbanisation Women

Indira Gandhi the environmentalist!

When we talk about India’s only female Prime Minister till date, what comes to our mind? Emergency, ‘Garibi Hatao Andolan‘, 1971 Bangladesh War, Operation Bluestar etc. But it is surprising to note that Indira Gandhi was also a lover of nature. She was a lover of mountains, of tranquil seas and of beautiful birds that roamed India in all their grace & magnanimity. Indian National Congress (INC) member Jairam Ramesh in his book ‘Indira Gandhi: A life

Read more
2017 Culture Environment Globalisation Happiness Human Resource Opinion Optimism Productivity World

प्रदुषण से चाहिए आज़ादी!

“जंगल-जंगल पता चला है, चड्डी पहेन के फूल खिला है”। मोगली और उसके जंगली दोस्तों के कारनामों से भरा यह गाना आज भी मन को उसी तरह भाता है जैसा यह आज से तकरीबन 20 साल भाता था। वाकई मे जंगल का दृश्य अध्बुध है। प्रकृति का यह अनमोल तोफा ना जाने मनुष्य को कितने सदियों से जीवित रख रहा है। लेकिन दुःख की बात है की लालच और क्रूरता मे लुप्त मानव ने वन-वातावरण

Read more
2017 Culture Happiness Health Human Resource India Productivity World

प्रदुषण ले लड़ने के लिए कुछ आयुर्वेदिक रास्ते

कैसे दिन आ गए हैं? भगवान् का दिया हुआ एक अनमोल तोफा- हवा- को भी इंसान ने इतना दूषित कर दिया है कि जगह-जगह लोग प्रदूषण से बचने के लिए मुखौटे और प्यूरीफायर खरीद रहे हैं। घर से ऑफिस यातायात करना भी मेरे लिए खतरे से कम नहीं रहा। जलती आखें, डगमगाती सासें और सिरदर्द आम बात हो चुकी है। हालांकि मैं तकनीकी यन्त्र जैसे कि प्यूरीफायर इत्यादि के खिलाफ नहीं हूँ, प्रदूषण से लड़ने

Read more
2017 Fiction Health History Human Resource Opinion Optimism Productivity

अब ‘हेड ट्रांसप्लांट’ दूर नहीं!

चिकित्सा की दुनिया मे दिन ब दिन इंसान नई ऊँचाइयों को छु रहा है। टी.बी., चिकन पौक्स, स्मौल पॉक्स जैसे खतरनाक बीमारियों का खात्मा भी इंसान ने अपनी लगन, कोशिश और दृढ संकल्प से पूर्ण किया। लेकिन फिर भी ऐसे कई रोग अब भी उपस्थित हैं जिस पर इंसान ने जीत हासिल नहीं की है। कैंसर, एड्स, लकवा जैसी बीमारियाँ अब भी मानवता के लिए ‘खतरा’ का प्रतीक है। ज़्यादातर मामलों मे शरीर की दुर्गम

Read more
2017 Business Culture Digital Media Education Environment Globalisation Human Resource Opinion Productivity Recruitment Story Urbanisation Work World

बिटकॉइन आखिर है क्या ?

आये दिन कई कंपनियां ‘बिटकॉइन’ के बारे मे बात कर रही हैं। आखिर यह नई मुद्रा प्रणाली है क्या? क्या यह सुरक्षित है? क्या इससे घोटाले मे कमी आएगी? ऐसे कुछ प्रश्न मेरे दिमाग मे आये थे। चूँकि आजकल स्मार्टफ़ोन का ज़माना है, ‘बिटकॉइन’ के लेन-देन के लिए कंपनियों ने कई एप्लीकेशन निकाले हैं। सीधी भाषा मे यदि बात की जाए तो ‘बिटकॉइन’ आभासी मुद्रा है। यानी आप कंप्यूटर के माध्यम से बिटकॉइन यानी ‘वर्चुअल

Read more
2017 Auto Culture Globalisation Human Resource Opinion Optimism Productivity Technology Workforce World

मैं, आप और ए.आई.

‘कृत्रिम बुद्धिमत्ता’ या ‘आर्टीफिशिअल इनटेल्लिजेंस’ (ए.आई.) आजकल चर्चा का विषय है। ‘सीरी’, ‘कौरटाना’, ‘बिक्स्बी’ नामक कई प्रभावशाली ए.आई.  हमारे मोबाइल, कंप्यूटर और टेबलेट के ज़रिये हमारे पसंद-नापसंद का विश्लेषण करते हैं और उसके अनुसार हमे सबसे उपयुक्त सुझाव देते हैं। हालांकि, ए.आई. के आ जाने से हमारा जीवन काफी सरल और तेज़ हो गया है, इसके दुष्प्रभाव से भी हमे वाकिफ होना चाहिए। ए.आई. के ऊपर ज़्यादातर ज्ञान मुझे फ़िल्मी दुनिया से मिला है। ‘टर्मिनेटर’,

Read more
2017 Business Corruption Culture Delhi/NCR Democracy Education Entrepreneurship Environment Globalisation Governance Government Human Resource India Opinion Optimism Recruitment Urbanisation World

गरीबी हटायेंगे लेकिन कैसे?

आज ‘अंतर्राष्ट्रीय गरीबी हटाओ दिवस’ है। संयुक्त राष्ट्र ने आज से ठीक पच्चीस साल पहले आज के दिन को इस नेक कार्य के लिए चुना था। पिछली सदी शायद मानवता के लिए सबसे भीषण और दर्दनाक समय रहा है। दो विश्व युद्ध, परमाणु हमलों, ‘कोल्ड वौर’ जैसे संकटमय क्षणों के अलावा कई गुलाम देशों को आज़ादी मिली। अफ्रीका, एशिया और दक्षिण अम्रीका के कई देशों ने स्वतंत्रता की सांस ली। लेकिन इसी स्वतंत्रता के साथ

Read more
2017 Crime Culture Democracy Education Environment Featured Globalisation Human Resource Opinion Optimism Productivity World

Disasters don’t come knocking!

Disasters don’t wait to happen. They happen when one least expects them. Today is International Day for Disaster Reduction. In the past couple of months, the world has seen a series of catastrophes. From earthquakes and hurricanes ravaging the North American and Mexican coasts to coastal rains lashing Eastern India, Bangladesh and Nepal, loss of human and animal life has been tremendous and unforgiving. Due to increasing global warming and melting of polar ice caps,

Read more
Corruption Culture Democracy Government Happiness Human Resource India Love Media Opinion Optimism Politics Productivity Radicalization Women

‘लव-जिहाद’ पर एक सोच

आये दिन ‘लव जिहाद’ के ऊपर काफी चर्चा हो रही है। आखिरकार यह ‘लव जिहाद’ है क्या? हाल ही देश के उच्चतम न्यालय ने ‘लव जिहाद’ के एक केस की तहकीकात करने के लिए ‘राष्ट्रीय जांच एजेंसी’ (NIA) को नियुक्त किया है। क्या यह समस्या इतनी संगीन है की इसके पीछे NIA को नियुक्त किया जाना चाहिए? जहां कुरान मे जिहाद का मतलब ‘धरम युद्ध’ है, वहीँ कुछ सूफी सिलसिले के गुरु मानते हैं की

Read more
coe_hp_new
Book Culture Democracy Education Human Resource India Literature Philosophy Productivity

Can India once again become the education hub of the world?

In ancient times, India boasted of having one of, if not the best university of the world Nalanda. In 1200 CE, along with Takshila and Vikramshila, India occupied the pinnacle of learning in the ancient world. Students from as far as Persia and Turkey in the Middle East and Japan and Korea in Central Asia were its students. It housed close to 10,000 students and about 2,000 teachers. Its staff included the likes of Aryabhatta,

Read more