arvind-bedi-maken
Entertainment Hindi India Opinion Politics Top Tour

ये मेरी दिल्ली को ना जाने क्या हो गया है

FacebookTwitterGoogleLinkedIn


ये मेरी दिल्ली को ना जाने क्या हो गया है

चुनावों  का मौसम आया तो वोटर खो गया है

ये मेरी दिल्ली को ना जाने क्या हो गया है

जो न हुआ था कभी वो सब अब हो गया है

किसी ने किसी को छोडा तो कोई किसी का हो गया है

ये मेरी दिल्ली को ना जाने क्या हो गया है

लो देखो दिल्ली मे परिवारवाद का तो वजुद ही खो गया है

उनके आर.टी.आई से बना केजरी अब इक नजीर हो गया है

लोग कहते ही की उनका माकन भी तो अब लवली हो गया है

ओर एक कृष्णा का तीरथ भी कांग्रेस से बी.जे.पी हो गया है

ये मेरी दिल्ली को ना जाने क्या हो गया है

अण्णा की किरण का तो सुरज भी अब मोदी हो गया है

ओर अपना था जो भाई केजरी अब वो विरोधी हो गया है

एक बिन्नी जो कभी था विनोदी अब क्यों अवरोधी हो गया है

एक शाजिया का इल्म भी अब किसी के लिए खोजी हो गया है

ये मेरी दिल्ली को ना जाने क्या हो गया है

हर्ष ना होते हुए भी किसी के हर्ष का वर्धन हो गया है

एक मुखी न चाहते हुए भी अब कुछ उन्मुखी हो गया है

एक गोयल भी लगता है की वो अब कोयल हो गया है

था जो भी अब तक आसाध्ये वो भी साध्ये हो गया है

ये मेरी दिल्ली को ना जाने क्या हो गया है

तुम भी अब सोच लो की तुम्हे क्या होना ,पाना ओर खोना है

समझ लो की ऐसे माहौल मे एक रवि अब निर्दलीय हो गया है

निर्दलीय रवि 

Leave a Reply


Your email address will not be published. Required fields are marked *