Featured Generation Y Hindi India Optimism Poetry Top

युवा

FacebookTwitterGoogleLinkedIn


आगमन से तुम्हारे, धरती ने

नई चेतना में स्नान किया ।

देश का कोना कोना

पुकार रहा है युवा युवा ।

ज़रुरत आन पड़ी है तुम्हारी,
जनता आश्रित है तुम पर

उम्मीद लगाये बैठी है कि

तुम लाओगे नया सवेरा ।

उंढेल दो अपनी सारी ऊर्जा

बेह जाने दो इस युवा शक्ति को

सींचने दो उसे इस मिटटी को

लाने दो एक नयी जागृति ।

जला दो तुम हर द्वार पर

ज्ञान का दीपक,

प्रकाश से भर जाए हर घर

दूर हो जाए अज्ञानता का अँधेरा ।

ज्वालामुखी सा जो देहक रहा

फूट पड़ने दो उस जोश को

उस लावे कि गर्मी से

जल जाने दो, उड़ जाने दो भाप बन

उन दुराचारियों को

जो बना रहे हैं समाज को खोकला ।

होने दो एक विस्फोट बड़ा

जन्म हो जिससे

नै सोच और नै चिंता धरा का ।

खुले रास्ता विकास का ।

उन्नतशील नीतियों का हो चलन

तुम सम्भालो देश की सत्ता ।

हर क्षेत्र में खिला दो

प्रगति के सुन्दर कमल

खोल दो सारे बंद दरवाज़े

बजा दो नवक्रांति का बिगुल  ।

आवाज़ दो सोयी जनता को

शामिल करो उन्हें इस आंदोलन में

भर दो भारत के कण कण मे

सुख समृद्धि शान्ति के अंश ।

डाल दो भारत के जीवन में प्राण

जगा दो पुनः भारत का सौभाग्य ।

युवाशक्ति से बड़ी भला

बताओ और कौनसी शक्ति है ?

इसी का तुम्हें करना होगा प्रयोग

येही शस्त्र है तुम्हारा

येही तुम्हारा अस्त्र  ।

सबकी आशाएं हैं तुमसे जुडी

सुनो देश पुकार रहा युवा युवा  !

भारत के धरोहरों ! सिद्ध कर दो स देश को कि

तुम्हारा ही था इस देश को इंतज़ार

तुम्ही करोगे डूबती नौका को पार !

जय हिन्द !

 

Leave a Reply


Your email address will not be published. Required fields are marked *