the-weather-of-love
Happiness Hindi Love Poem Poetry Relationship Romance

प्यार का मौसम

लड़का-      गोरी ए गोरी, गोरी ए गोरी

नैन मिले अब चैन कहाँ

दिल है वहीं तू रहे जहाँ

लड़की-      ए लड़के…………………..

मेरी तरफ तुम देखो ना

ऐसे कभी फिर छेड़ो ना

लाज शरम से मर-मर जाऊँ

फिर तेरे पास कभी ना आऊँ

लड़का-     ए…….ऐसी भी क्या नाराजी

आज मिले हैं हम तुम ऐसे

चन्दा को मिली हो बदली जैसे

आँचल में तुम मुझे छुपा लो

प्यार का तुम मुझे रूप दिखादो

लड़की-       बस…बस…बस………………..

कुछ भी आगे अब मत कहना

कष्ट पड़ेगा काफी सहना

छोड़ो बातें हो गयी रैना

लड़का-       ए…………………..क्या कहा?

ये बातें कहाँ है, रैन कहाँ

हम हैं कहाँ ये दुनियां कहाँ

मस्त हो मौसम प्रेम जवां

फिर मत कहना जायें कहाँ

और फिर………………….

लड़की-          फिर क्या…………………..

दोनों-           नैन मिले अब चैन कहाँ

दिल है वहीं तू रहे जहाँ

FacebookTwitterGoogleLinkedIn


Leave a Reply


Your email address will not be published. Required fields are marked *