Featured God Hindi Poem Poetry Top

एक बार तो आ जाओ

FacebookTwitterGoogleLinkedIn


तेरे दरस के प्यासे नैना,
एक झलक दिखला जाओ.
मन से तुम्हें पुकारें साईं,
एक बार तो आ जाओ.

तुम्हें भक्त प्यारे हैं अपने,
रखते सबका सदा ख़याल.
फिर मुझ पर क्यों कृपा नहीं की ?
बस मेरा है यही सवाल.

कमी रह गयी कहाँ भक्ति में,
इतना तो बतला जाओ.

मन से तुम्हें पुकारें साईं,
एक बार तो आ जाओ.

दीप जलाए जल से तुमने,
सबने देखा तेरा कमाल.
महामारी को दूर भगाया,
आई थी जो बन कर काल.

फंसी भंवर में जीवन नैया,
आ कर पार लगा जाओ.

मन से तुम्हें पुकारें साईं,
एक बार तो आ जाओ.

ईर्ष्या, लोभ , मोह- माया ने
ऐसा फेंका हम पर जाल.
इससे निकलें बाहर कैसे ?
चलती नहीं कोई भी चाल

बंधनमुक्त करो हमको और
सही राह दिखला जाओ.

मन से तुम्हें पुकारें साईं,
एक बार तो आ जाओ.

Leave a Reply


Your email address will not be published. Required fields are marked *